फ्री में मोबाइल फोन रिचार्ज करेगा रेलवे, आपको करना होगा ये काम

http://hindi.news18.com/news/business/indian-railway-crush-your-plastic-bottles-at-railway-station-get-free-mobile-recharge-2409427.html
BYपीटीआई Updated: September 10, 2019, 8:03 PM IST
नई दिल्ली. प्लास्टिक प्रदूषण (Plastic Pollution) को रोकने के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railway) ने एक नया कदम उठाया है. सिंगल यूज प्लास्टिक (Single Use Plastic) का उपयोग खत्म करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की पहल को आगे बढ़ाते हुए रेलवे ऐसे यात्रियों के फोन को रिचार्ज (Phone Recharge) करेगा जो स्टेशनों पर प्लास्टिक बोतल (Plastic Bottle) नष्ट करने वाली मशीनों का इस्तेमाल करेंगे. बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने और प्लास्टिक बोतल का विकल्प तलाशने की अपील की थी. 2 अक्टूबर से रेलवे स्टेशनों पर प्लास्टिक बोतल का इस्तेमाल नहीं रेलवे ने निर्देश जारी किया है कि इस साल 2 अक्टूबर से उसके परिसरों में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं होगा. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने कहा है कि स्टेशनों पर बोतलों को नष्ट करने वाली 400 मशीनें लगाई जाएंगी. इसका इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को मशीन में अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और इसके बाद उनका मोबाइल फोन रिचार्ज हो जाएगा. हालांकि, रिचार्ज की डिटेल जानकारी अभी नहीं दी गई है. 128 स्टेशन पर 160 मशीनें नष्ट करेंगी प्लास्टिक बोतलवीके यादव ने कहा कि फिलहाल 128 स्टेशनों पर बोतल नष्ट करने वाली 160 मशीनें लगाई गई हैं. उन्होंने कहा कि रेलवे कर्मचारियों को स्टेशनों पर इस्तेमाल हो चुकी प्लास्टिक बोतलों को जमा करने और उन्हें रिसाइकिल के लिए भेजने का निर्देश दिया है. इससे पहले, मंत्रालय ने सभी विक्रेताओं और कर्मचारियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल घटाने के लिए रिसाइकिल बैग के प्रयोग का निर्देश दिया था. ये भी पढ़ें: बिक गई बैटरी बनाने वाली 114 साल पुरानी कंपनी एवरेडी, जानें कितने में हुआ सौदा? रेलवे स्टेशन पर सिर्फ रेल नीर ही बिकेगाLoading... रेलवे स्टेशन (Railway Station) पर केवल रेल नीर (Rail Neer) का पानी की बोतल बेचने का नियम है. इसलिए अगले साल तक 6 और नए रेल नीर प्लांट शुरू होने जा रहे है. ये प्लांट नागपुर, हावड़ा, गुवाहटी, जबलपुर, भुसावल और उना में शुरू होने वाले हैं. जबकि जल्द ही विजयवाड़ा, विशाखापट्टनम और भुवनेश्वर में भी रेल नीर (Rail Neer) प्लांट तैयार किया जाएगा. इस तरह से रेलवे में रेल नीर की मांग पूरी की जाएगी. IRCTC ने साल पिछले साल 22 करोड़ बोतल पानी बेचा था जिससे उसे 33 करोड़ रुपये की कमाई भी हुई थी. ये भी पढ़ें: कश्मीर के लिए मोदी सरकार का मिशन ‘Apple’, किसानों के खाते में सीधा जाएगा पैसा