म्यूचुअल फंड में स्कीम में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर! बदल गया इस कंपनी का नाम

http://hindi.news18.com/news/business/reliance-mutual-fund-is-now-nippon-india-mutual-fund-nippon-life-takes-over-reliance-mutual-fund-2496076.html
BYNews18Hindi Updated: October 8, 2019, 5:00 PM IST
मुंबई. अगर आप म्यूचुअल फंड (Mutual Fund Scheme) की किसी भी स्कीम में पैसा लगाते है तो ये खबर आपके लिए जानना बेहद जरूरी है. क्योंकि देश की बड़ी म्यूचुअल फंड कंपनी रिलायंस म्यूचुअल फंड (Reliance Mutual Fund) का नाम बदल गया है. अब ये कंपनी निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड (Nippon India Mutual Fund) के नाम से जानी जाएगी. निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस (Nippon Life Insurance) ने अब रिलायंस निप्पॉन लाइफ AMC को खरीद लिया है. निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस की कंपनी में 75 प्रतिशत हिस्सेदारी है. नए बदलाव के बाद कंपनी के बड़े अधिकारी ED और चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (CEO) सुंदीप सिक्का (Sundeep Sikka) होंगे. हालांकि, कंपनी के मैनेजमेंट में कोई बदलाव नहीं होगा. आपको बता दें कि निप्पॉन लाइफ 130 साल पुरानी जापान की कंपनी है. निप्पॉन लाइफ के इंटरनेशनल नेटवर्क की मदद से कंपनी के विस्तार में मदद मिलेगी. निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड सबसे ज्यादा विदेशी निवेश वाली AMC है. अब क्या होगा रिलायंस म्यूचुअल फंड स्कीम का- एसकोर्ट सिक्योरिटीज के रिसर्च हेड आसिफ इकबाल ने न्यूज18 हिंदी को बताया है कि कंपनी का नाम बदलने से म्यूचुअल फंड स्कीम में पैसा लगाने वालों पर कोई असर नहीं होगा.
रिलायंस म्युचूअल फंड का नाम बदलकर अब निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड (Nippon India Mutual Fund) हो गया है.
>> हालांकि, अब डॉक्युमेंट और बाकी जगह नाम बदल जाएगा. निवेशकों के पास अब रिलायंस म्यूचुअल फंड के नहीं बल्कि निप्पॉन इंडिया म्यूचुअल फंड के नाम से डॉक्युमेंट आएंगे. बस आपको इतना ही ख्याल रखना है और इसको लेकर किसी भी तरह की टेंशन लेने की जरुरत नहीं है.भारत में तेजी से बढ़ रहा है म्यूचुअल फंड में लोगों का रुझान- निप्पोन लाइफ इंश्योरेंस के प्रेसीडेंट हिरोशी सिमाजू ने कहा है कि संदीप सिक्का मौजूदा प्रबंधन के साथ कंपनी की बागडोर संभालते रहेंगे. सिमाजू ने कहा कि कंपनी 2011 में भारतीय लाइफ इंश्योरेंस कारोबार में निवेश शुरू किया था जबकि भारतीय एसेट मैनेजमेंट में 2012 में निवेश शुरू किया था. >> उन्होंने कहा कि हमने भारत के एसेट मैनेजमेंट और लाइफ इंश्योरेंस कारोबार में लंबी अवधि की संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए सही समय पर प्रवेश किया था और इस लेन-देन का पूरा होना भारत के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है.Loading... >> सिमाजु ने कहा कि भारतीय एसेट मैनेजमेंट स्पेस काफी आकर्षित है और लॉन्ग टर्म में इसे तेजी से बढ़ने की उम्मीद है. रिलायंस ने 6000 करोड़ रुपये में बेचा अपना म्यूचुअल फंड कारोबार- रिलायंस कैपिटल (RCAP) ने रिलायंस निप्पॉन (Nippon) लाइफ एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड (RNAM) में अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए जापान की निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस के साथ करार पर हस्ताक्षर किया था. RNAM में अपनी हिस्सेदारी बेचने से रिलायंस कैपिटल को करीब 6,000 करोड़ रुपये मिलने की डील तय हुई थी.