न्यूज़ीलैंड क्रिकेट ने लिया अनूठा फैसला, क्या अब बीसीसीआई भी जागेगी?

http://hindi.news18.com/news/sports/cricket-new-zealand-cricket-players-association-gets-notes-on-sexual-consent-1545655.html
BYNews18Hindi Updated: October 12, 2018, 12:21 PM IST
हाल फिलहाल में काम करने की जगहों में महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न को लेकर कई मामले प्रकाश में आए हैं. इसको लेकर चल रहे #Metoo अभियान में कई नामी गिरामी लोगों के नाम सामने आए हैं. इसी बात को ध्यान में रखते हुए न्यूजीलैंड क्रिकेट प्लेयर असोसिएशन ने अपने खिलाड़ियों के लिए कुछ दिशा निर्देश जारी किए हैं. यह पहला मौका है जब यौन संबंध बनाने के दौरान सहमति को दिशानिर्देश के तौर पर खिलाड़ियों की हैंडबुक में जोड़ा गया है. इन दिशानिर्देशों को 'गुड डिसिज़न मेकिंग' सेक्शन में रखा गया है. इसमें कहा गया है, "जिंदगी के सभी पहलुओं में सही फैसला लेना जरूरी है. यह तब और भी जरूरी है जब आप किसी के साथ यौन संबंध बना रहे हों और इस दौरान सामने वाले की सहमति बेहद जरूरी है. फिर चाहे कैसी भी परिस्थिति क्यों न हो, यौन संबंध बनाने को लेकर सहमति बनना बहुत जरूरी है." नए दिशानिर्देशों में आगे बताया गया है कि कानून के मुताबिक इस दौरान सहमति का होना बहुत जरूरी है. "अगर वह आपको न कहते हैं तो उसका मतलब न ही है." सहमति को लेकर आगे स्पष्टता दी गई है कि व्यक्ति की स्वतंत्रता का सम्मान करें और किसी को सहमति देने के लिए मजबूर न करें. क्रिकेट खेलने के दौरान जिस तरह के जोखिम का सामना क्रिकेटर करते हैं उसको लेकर NZCPA पहले से ही 7 महीने का प्रोग्राम चला चुका है. यह पहला मौका है जब इन दिशानिर्देशों को हैंडबुक में जोड़ा गया है. इस प्रोग्राम में यौन संबंध और सहमति के बारे में ही बात नहीं की गई है बल्कि डोपिंग और रिटायर होने के बाद खिलाड़ियों की परिस्थितियों को लेकर भी बातचीत की गई है.NZCPA के चीफ एक्जिक्यूटिव हीथ मिल्स ने कहा, "एक प्रोफेशनल क्रिकेटर के तौर पर अगर वे जोखिम को जानते हैं और जिम्मेदारी, सम्मान के महत्व को समझते हैं चीजों को बेहतर तरीके से संभाल लेंगे." न्यूजीलैंड क्रिकेट ने तो यह शुरुआत कर दी लेकिन क्या बीसीसीआई भी ऐसा कोई कदम उठाएगी? बहरहाल, ये तो वक्त के साथ ही पता चलेगा. ये भी पढ़ें: डेब्यू मैच में ही शार्दुल ठाकुर के साथ हो गई अनहोनी, जाना पड़ा मैदान के बाहर